Author: श्री सागर सिंह बिष्ट

पूर्व से चले आ रहे सैन्य भर्ती प्रक्रिया में कोई खामियां न होने के बाद भी सेना में पाश्चात्य टूर ऑफ ड्यूटी मॉडल अग्निपथ के प्रयोग से सेना मात्र बेरोजगारी दूर करने का साधन बनेगी और 4 वर्ष के धनार्जन के उद्देश्य से भर्ती हुआ टूरिस्ट सैनिक राष्ट्र के प्रति उसके दायित्वों को ठीक ढंग से नहीं निभाएगा और इससे निश्चित रूप से सेना का मनोबल और स्तर गिरेगा।प्रत्येक वर्ष औसतन 60 हजार सैनिक रिटायर्ड होते है। 3 वर्ष पहले 80 हजार सैनिकों की भर्ती हुई थी और पिछले 2 वर्षों में सेना की भर्ती न होने के कारण सेना…

अधिक पढ़ें

हिमालयी राज्य उत्तराखण्ड को देवभूमि की संज्ञा प्राप्त है, ये भूमि सनातन हिन्दू धर्म संस्कृति का उद्गम स्थल है। देवभूमि उत्तराखंड का धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व है, यहां से ही परम पावनी गंगा जी, यमुना जी और सरस्वती जी का प्रादुर्भाव हुआ। यह हिमालयी क्षेत्र अनेकानेक ऋषि मुनियों की तपस्थली है, यहां से ही वेद इत्यादि सत-शास्त्रों का प्राकट्य हुआ। केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री आदि अनेकानेक तीर्थ स्थल यहां स्थित है। यहां साक्षात देवी-देवता निवास करते है, वरण इस क्षेत्र को देवभूमि के रुप में प्रतिष्ठित किया गया है। देश-विदेश में बसे सभी हिंदुओं का यह आस्था का केंद्र है।…

अधिक पढ़ें

उत्तराखंड में तेजी से बढ़ती अवैध मुस्लिम जनसंख्या एक चिंता का विषय है। मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी की तरफ से इस विषय पर वक्तव्य आया है, उन्होंने कहा कि वे जल्द ही राज्य में वेरिफिकेशन अभियान शुरू करवाएंगे। जिससे संदिग्ध घुसपैठियों को चिन्हित कर राज्य से बाहर कर सकें । https://twitter.com/ahindinews/status/1516312515143438337 हिन्दू तीर्थस्थलों में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के प्रश्न पर सीएम धामी ने कहा, ‘हम देवभूमि की आध्यात्मिक संस्कृति के संरक्षण के लिए वचनबद्ध हैं। हम अपनी संस्कृति को बचाने के लिए अभियान चलाएंगे। हम फिर कह रहे हैं कि जिन लोगों के सत्यापन नहीं…

अधिक पढ़ें

नई दिल्ली (इंविसंकें) श्रीजयकृष्णी प्रतिनिधि सभा पंजाब एवं फ़्रंटियर की स्थापना के 100 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर शताब्दी महोत्सव मनाया गया। इस अवसर पर करोलबाग़ नई दिल्ली में श्री साँवली मूर्ति मंदिर का शिलान्यास राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी एवं महानुभाव (जय कृष्णी) पंथ के पूजनीय महंतों एवं संतों की गरिमामय उपस्थिति में संपन्न हुआ। समारोह में सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि हिन्दू समाज को संगठित करना है तो समता अनिवार्य बात है। सामाजिक समता और हिन्दू संगठन यह दो समानार्थी शब्द हैं। ऐसा हमारे पूज्य तृतीय सरसंघचालक बाला साहब देवरस…

अधिक पढ़ें

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के देशभर के चयनित प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक मंगलवार दिनांक 5 से 11 अप्रैल, 2022 तक उत्तराखंड के हरिद्वार में आयोजित हो रही है। यह बैठक पूजनीय सरसंघचालक डॉ. मोहन जी भागवत व माननीय सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले जी की उपस्थिति में संपन्न होगी। बैठक में सभी सह सरकार्यवाह तथा संघ के शारीरिक, बौद्धिक, व्यवस्था, प्रचार, सेवा एवं सम्पर्क कार्य विभागों के प्रमुखों सहित कुल 75 कार्यकर्ता आमंत्रित किए गए हैं। इस वर्ष संघ के 105 स्थानों पर हो रहे संघ शिक्षा वर्ग सहित देश भर में अन्य प्रशिक्षण वर्ग भी आयोजित होने वाले हैं। इन प्रतिवर्ष होने…

अधिक पढ़ें